Face value in Hindi

Face value in Hindi

फेस वैल्यू क्या होता है?

FACE VALUE हिंदी अर्थ है – अंकित मूल्य FACE VALUE को Nominal Value या PAR VALUE के नाम से भी जाना जाता है. सभी शेयर का एक अपना मूल्य होता है, और अगर वो शेयर या स्टॉक, स्टॉक मार्केट में लिस्टेड होती है, तो उस शेयर के PRICE रोजाना घटते और बढ़ते रहते है, लेकिन यहाँ ध्यान देने वाली बात ये है कि, हर स्टॉक का एक ऐसा PRICE भी होता है, जो कि रोजाना CHANGE नहीं होता है, और वो लगभग FIXED होता है, इस FIXED PRICE को उस शेयर FACE VALUE कहा जाता है |

FACE VALUE और MARKET VALUE दोनों बिलकुल अलग अलग चीजे है, किसी शेयर का MARKET PRICE इस बात पर निर्भर होता है की उस शेयर की मार्केट में कितनी DEMAND है,लेकिन किसी SHARE का फेस वैल्यू एक ऐसा LEGAL PRICE होता है, जिसके आधार पर उस कंपनी के कुल शेयर मार्केट में जारी किये गए होते है,

फेस वैल्यू को शेयर का वास्तविक मूल्य भी कहा जा सकता है, यानी जिस तरह रूपये के नोट पर 50 रूपये, 100 रूपये , 500 रूपये लिखे रहते है, वैसे हर शेयर का एक ऐसा प्राइस होता है, जो उस पर लिखा होता है, उसे हम FACE VALUE और हिंदी में अंकित मूल्य कहते है |

अगर आप किसी कंपनी का शेयर PHYSICAL FORM में प्राप्त करते है, तो उस शेयर पर एक मूल्य लिखा होगा, जो शेयर का फेस वैल्यू होगा,

जैसे – मान लीजिए किसी कंपनी की शुरूआती पूंजी 1 करोड़ है, और उस कंपनी को 10 लाख के शेयर में डिवाइड किया जाता है, तो ऐसे में उस कंपनी का शुरूआती शेयर का मूल्य होगा 10 रूपये (1करोड़/10 लाख),
शेयर के इस इसी शुरुआती वैल्यू को उसका फेस वैल्यू कहा जाता है |

FACE VALUE का इस्तेमाल –

एक इन्वेस्टर के लिए फेस वैल्यू को समझना कितना जरुरी है, और आखिर फेस वैल्यू का क्या इस्तेमाल है,एक निवेशक कंपनी के लिए FACE VALUE और CURRENT MARKET PRICE के मूल्यों में अंतर को समझना जरुरी है, कि CURRENT MARKET PRICE के मुकाबले फेस वैल्यू क्या है?

साथ ही साथ इस बात को भी ध्यान रखना चाहिए कि कंपनी फेस वैल्यू का USE कंपनी इन सारे कामो के लिए करती है –

  1. DIVIDEND के PAYMENT के लिए- जब भी कंपनी डिविडेंड घोषित करती है, तो उसकी गणना FACE VALUE के ऊपर ही की जाती है |
  2. STOCK SPLIT के लिए– STOCK SPLIT का भी मुख्य आधार फेस वैल्यू होता है |
  3. SHARE BONUS देने के लिए– कंपनी द्वारा फेस वैल्यू के आधार पर ही शेयर बोनस की घोषणा भी की जाती है |
  4. कंपनी की ग्रोथ की गणना के लिए- अगर कंपनी की ग्रोथ की गणना करनी हो तो एक निवेशक आसानी से कंपनी के CURRENT MARKET PRICE की उसके फेस वैल्यू से तुलना करके एक निर्णय ले सकता है |
  5. कंपनी समापन या दिवालिया की स्थिति में शेयरहोल्डर को सिर्फ FACE VALUE के हिसाब से ही पूंजी की प्राप्त करने का अधिकार होता है |

स्टॉक का FACE VALUE कैसे चेक कर सकते है-

किसी स्टॉक का फेस वैल्यू आपको कंपनी के फाइनेंसियल स्टेटमेंट (BALANCE SHEET और SCHEDULE) से पता चलता है.

Face Value Kya Hota Hai | Face value in Hindi